Saturday, September 18, 2021
prachi

⎸ weekend - top post ⎹

⎸ recently published ⎹

पोल

1
पोलउस हुनर का कभी कोई खरीददार ना हुआजो हुनर किसी रूतबे का हिस्सेदार ना हुआवो कालीदास भी तो ज़िन्दगी...

मेरे लफ्ज़:कुमार किशन कीर्ति

1तेरे रुकसार पे जो काला तिल है,दिल-ए-बयां करता हूँ...इसमें मेरा दिल है।2देखो वह चाँद कितना खोया-खोया सा है,लगता है...

🌼 और फिर शुरू हुई एक कहानी 🌼

0
वे इतने करीब खड़े थेऔर, उसने गेर की आँखों में देखावह मुग्ध हो उठीइस पूरे प्रकरण के दौरान, वह...

👉🏻 ये चुनौतीपूर्ण क्षण – भविष्य निर्माता ✏️

0
ये चुनौतीपूर्ण क्षण आपको कुछ सिखाने की कोशिश कर रहे हैं, इसे ठीक से देखेंआपके साथ जो कुछ भी...

तुम औरत हो

0
तुम औरत हो खुद में मत सिमट ज़ाया करो |बेवजह ही सही पर दिल से मुस्कुराया करो |दुनिया ने...

कुछ अनकहा सा…

2
सब कुछ तुमसे कह करकर चुकी मैं हल्का जी कोपर अब है कुछ अनकहा साबस तुमसे राज़दां के लिएएक...

हिन्दी दिवस

0
मातृभाषा का दिनकहा किसी ने देखो, है आज मात्तृभाषा का दिन.सुनकर उसकी कथनी, चाँद का मन हुआ थोड़ा सा...

संकट बड़ा है, लेकिन उससे भी बड़ा हमारा ईश्वर...

0
संकट बड़ा है, लेकिन उससे भी बड़ा हमारा ईश्वर है - आनंदश्री- यह आस्था 2.0 का समय हैकोरोना के...

मर्दोंं की लड़ाई में गालियाँ मां-बहनों की क्यों?

2
जब बात नारी पुरुष समानता की होती है, तब मन में सवाल आता है कि यदि इक्कीसवीं सदी में...

⎸ stories ⎹

फील गुड

2
कभी-कभी हमारे जीवन में कुछ हादसे ऐसे हो जाते हैं जिन पर हमें गुस्सा कम और हंसी ज्यादा आती है। आज मेरे साथ भी...

सपनो से बड़ा सपना- आनंदश्री

0
लघुकथासपनो से भी बड़ा सपनापांच महीने से मेहनत कर वह अपने सपनो के सायकल ले लिए पैसा जमा कर रहा था। मजदूरी करता, कभी...

कोरोना के समय भी अनुशासन की आदत डालना जरूरी...

0
कोरोना के समय भी अनुशासन की आदत डालना जरूरी है - आनंदश्रीवक्त को कौन पसंद है?  वक्त किसके साथ रहता है ? वक्त किसे...

आस का पुष्प

1
"विमला पानी पिला दे....!"खाँसते हुए बलवीर उठकर बैठ गया।"आहहहह यह खाँसी जान ले लेगी मेरी....!" विमला ने पानी का गिलास दिया और पीठ सहलाने...

पुरानी चिट्ठी

कमरे की सफाई करते वक्त अचानक ही रोहन की नजर एक डायरी पर गई।उसके हाथ रुक गए,और वह वही झाडू रखकर थोड़ी दूर जमीन...

तोता रट्टा – आनंदश्री

0
तोता रट्टाएक बुजुर्ग तोता ने जंगल के सभी तोते को बुला कर समझदारी की बात समझनी चाही। उसने चार महत्वपूर्ण बातें सभी को सीखा...

⎸ poems ⎹

पोल

1
पोलउस हुनर का कभी कोई खरीददार ना हुआजो हुनर किसी रूतबे का हिस्सेदार ना हुआवो कालीदास भी तो ज़िन्दगी में मूर्ख ही रहाहर किसी...

🌼 और फिर शुरू हुई एक कहानी 🌼

0
वे इतने करीब खड़े थेऔर, उसने गेर की आँखों में देखावह मुग्ध हो उठीइस पूरे प्रकरण के दौरान, वह वास्तव में उस उदास जीवन...

👉🏻 ये चुनौतीपूर्ण क्षण – भविष्य निर्माता ✏️

0
ये चुनौतीपूर्ण क्षण आपको कुछ सिखाने की कोशिश कर रहे हैं, इसे ठीक से देखेंआपके साथ जो कुछ भी हो रहा है वह सिर्फ...

हिन्दी दिवस

0
मातृभाषा का दिनकहा किसी ने देखो, है आज मात्तृभाषा का दिन.सुनकर उसकी कथनी, चाँद का मन हुआ थोड़ा सा खिन्न.अ से अनपढ़ ज्ञ से...

कौन छुपके तारकों में गीत गाता!

2
कौन छुपके तारकों में गीत गाता!आ गई प्रमुदित निशाचिर-ज्योत्सना के पट लपेटे,तारकों के मोतियों कोपीत अंचल में समेटे।शुभ्र यह परिधान अग-जग को लुभाताकौन छुपके...

एल्बम पुराना

0
एल्बम पुरानातस्वीरो कि किताबो मे कुछ खास यादो को था यादगार बनाना.करे स्मरण हर अपना कभी कभार इस वास्ते एक पीढी ने दूसरी को...

⎸ articles ⎹

संकट बड़ा है, लेकिन उससे भी बड़ा हमारा ईश्वर...

0
संकट बड़ा है, लेकिन उससे भी बड़ा हमारा ईश्वर है - आनंदश्री- यह आस्था 2.0 का समय हैकोरोना के दौर ने सबकुछ बदल दिया।...

मर्दोंं की लड़ाई में गालियाँ मां-बहनों की क्यों?

2
जब बात नारी पुरुष समानता की होती है, तब मन में सवाल आता है कि यदि इक्कीसवीं सदी में नारी पुरुष समानता का बोलबाला...

शिक्षक दिवस के गुरु-चेला

इधर दो-तीन सालों से शिक्षक दिवस के कई भेद सामने आए हैं- एक विश्व शिक्षक दिवस जो कि संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा घोषित है...

भाविना पटेल का संघर्ष से रजत पदक तक का...

2
टोक्यो पैरालंपिक में टेबल टेनिस स्पर्धा में सिल्वर मेडल जीत कर भाविना पटेल ने इतिहास रच दिया है। क्योंकि पैरालंपिक खेलों में रजत पदक जीतने...

जब युद्ध तुम्हारे भीतर हो!

1
बाहर के युद्ध आपको या तो हार या जीत की ओर ले जा सकते हैं, लेकिन तब क्या होता है जब आप लगातार अंदर...

तरंगे

0
 यह संसार तरंगो का संसार है, जो देते हैं वही लौट कर आता है। - आनंदश्रीक्या अपने लॉ ऑफ़ अट्रैक्शन के बारे में सुना...

⎸ ghazals ⎹

मेरे लफ्ज़:कुमार किशन कीर्ति

1तेरे रुकसार पे जो काला तिल है,दिल-ए-बयां करता हूँ...इसमें मेरा दिल है।2देखो वह चाँद कितना खोया-खोया सा है,लगता है मेरी तरह वह भी महफ़िल...

कुछ अनकहा सा…

2
सब कुछ तुमसे कह करकर चुकी मैं हल्का जी कोपर अब है कुछ अनकहा साबस तुमसे राज़दां के लिएएक तुमसे वस्ल की ख्वाहिशहर दुआ-ओ-मन्नत...

दास्तान…

2
आंखों की खामोशी शिकायतेंअब सरे आम हुई सी जाती हैंहंसने की सारी कोशिशेंअब नाकाम हुईं जाती हैंगमों का ये दायरामुझ पर ही क्यों बढने...

अल्फाज… देशप्रेम के।

1खड़ा हिमालय पुकार रहा है,फिर दुश्मन ने ललकारा हैं।उठो वीरों, और आगे बढ़ो,आज फिर भारत माँ हमें बुलायी है।2यह भारत की भूमि है,यहाँ वीरों...

वो…

1
क्या है मेरी ज़िन्दगीकिदिल्लगी किस्मत भीकरे है अबलाए हैं वफ़ा की मज़ार परदुल्हन सजा के वो

लौट गए…

3
इबादत कहते हैं किसकोदुआ फिर किसका नाम हैजबज़बान-ओ-दिल पथराने लगेऔरलफ्ज़ आकर लौट गएइश्क कहते हैं किसकोमेहबूब फिर किसका नाम हैजबएक पल को ले आसरा-ए-दिलऔरआकर...

⎸ other genres ⎹

मेरे लफ्ज़:कुमार किशन कीर्ति

1तेरे रुकसार पे जो काला तिल है,दिल-ए-बयां करता हूँ...इसमें मेरा दिल है।2देखो वह चाँद कितना खोया-खोया सा है,लगता है मेरी तरह वह भी महफ़िल...

कुछ अनकहा सा…

2
सब कुछ तुमसे कह करकर चुकी मैं हल्का जी कोपर अब है कुछ अनकहा साबस तुमसे राज़दां के लिएएक तुमसे वस्ल की ख्वाहिशहर दुआ-ओ-मन्नत...

मेरे राम

1
मेरे रामये सिंहासन ये सुख सुविधा, अचानक से खो जाना। राजा बनने की अभिलाषा में, यूँ वनवास हो जाना। सारे दुख दर्द सह लेना सिकन चेहरे...

दास्तान…

2
आंखों की खामोशी शिकायतेंअब सरे आम हुई सी जाती हैंहंसने की सारी कोशिशेंअब नाकाम हुईं जाती हैंगमों का ये दायरामुझ पर ही क्यों बढने...

अल्फाज… देशप्रेम के।

1खड़ा हिमालय पुकार रहा है,फिर दुश्मन ने ललकारा हैं।उठो वीरों, और आगे बढ़ो,आज फिर भारत माँ हमें बुलायी है।2यह भारत की भूमि है,यहाँ वीरों...

वो…

1
क्या है मेरी ज़िन्दगीकिदिल्लगी किस्मत भीकरे है अबलाए हैं वफ़ा की मज़ार परदुल्हन सजा के वो