आपके मन का रिमोट कंट्रोल कँहा है- आनंदश्री

0
1

अपना रिमोट कंट्रोल अपने पास रखें – आनंदश्री

दुखी होने का अचूक मंत्र है। अपना जीवन का, हंसी का, खुशी का रिमोट दूसरे को देना। एक उदाहरण से समझते है।

आज सुबह आपको कॉल आता है कोई आपकी बुराई पर बुराई करता है। बुरा भला कहता है। फ़ोन रख देता है। आप अचरज में आ जाते है। उसकी बात को वास्तविकता बना लेते है। फिर आप दुख पर दुख मनाने लगते हो। मातम मनाते हो।
थोड़ी देर में फिर कॉल आता है वही आदमी आप से माफी मांगता है कहता है गलत फहमी हो गयी। आपकी तारीफ करता है। आप खुश हो जाते है। गदगद महसूस करते हुए फ़ोन रख देते है।
यह छोटी सी घटना हुई लेकिन एक सबक सिखा गयी। इसमें दुख और खुशी का कारण क्या था ? खुश और दुख कहां था? घटना में बाहर केवल ट्रिगर था, रिमोट था।

आपका रिमोट किसके पास है?
एक बार चेक कीजिये आपने अपना रिमोट किसको देकर रखा है। आपके पास है या बाहर किसी को दिया है। किसी ने कुछ बोल दिया, ग्रुप से निकाल दिया, गलत कमेंट, चाय आप पर गिर गया, कपड़े फट गए, आपका प्रोमोशन रुकना आदि । यह सब रोज होगा लेकिन आपका रिमोट देखना है कि किसके पास है।

आपके खुशियों की चाबी आपके पास है
आनंद यात्रा है, मंजिल नही। आनंद पास है फेल नही। आनंद अब है, कल नही। आनंद 24X7 एहसास है, वस्तु नही। आनंद अंदर है, बाहर नही।
आपकी खुशियां कस्तूरी मृग की तरह आपने पास है। लेकिन बेहोशी में जीने के कारण अनजान है।

होश में आपका रिमोट है
आपका रिमोट उस समय आपके पास आएगा जब आप जाग जाओगे। आप नही जानते आपके बेहोशी में क्या क्या हो गया। अब वक्त हैं जाग जाईये। आपके आनंद का रिमोट आपके पास है। शर्त यह है कि आपको होश में रहना है।

अपने आप को सदा मोटिवेट रखें, उत्साही रखें
लक्ष्य बनाए, माइन्डसेट करे तथा फोकस रहे। देखे आपका ध्यान किसपर है। आज आप जहां ध्यान दोगे वही आपको मिलेगा।

जीवन आपका है। इमोशन आपका है। रिमोट भी आपका है। इसका नियंत्रण किसी और को न दे। इसे टूटा फूटा बेचारा जंगल नही एक सुंदर बगीचा बनाये।

प्रो डॉ दिनेश गुप्ता- आनंदश्री
आध्यात्मिक व्याख्याता एवं माइन्डसेट गुरु
मुम्बई
8007179747

Prof Dr. Dinesh Gupta - Aanand shree Limca book of records holder Gold medalist Engineer Author, Mindset Guru

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here