डायरी के पन्ने

0
9

04-01-2021
रात्रि 09:25 बजे
बस्ती,उत्तर प्रदेश

मेरे अंतस की अभिव्यक्ति,मेरे एकांकीपन की सहज मित्र ,मेरे मन रूपी पंक्षी की सहज उड़ान , ओ मेरी  डायरी ! तुझे तो मैं भुला ही चुका था । पर तू भी तो मुझे भुला चुकी हो , तुमनें भी तो मुझे याद नहीं दिलाया न ही याद किया । चलो तुम न सही मैं ही तुम्हे याद कर लूँ…………..

आज शासकीय कार्य के सिलसिले मैं मेरा एक गाँव में जाना हुआ । ग्राम भ्रमण के दौरान कुछ खेलते हुए बच्चे दिखाई दिये । मैं न जानें किस आकर्षण के वशीभूत उन तक खिंचा चला गया । और………उनके पास पहुँचते तो भावविभोर हो गया । वो नन्हे मुन्ने बच्चे सृजन में तल्लीन थे । उनके नन्हें हाथ कुछ गढ़ रहे थे । मुझे अपना बचपन याद आ गया । हम भी तो बचपन में तालाब की चिकनी मिट्टी लाकर उनसे खिलौनें बनाया करते थे । लेकिन मेरी कल्पनायें और हाथ बस,ट्रक,पहिया,मिट्टी का चूल्हा आदि ही बना पाते थे । लेकिन इनके हाथ तो गैस का सिलण्ड़र,मोबाइल फोन,कम्प्यूटर और न जानें क्या-क्या गढ़ रहे हैं । कुल मिलाकर उनकी कल्पना और दक्षता आज समय के साथ कदमताल कर रही है । मैनें उनके कुछ फोटोग्राफ्स खींचे और सोचते हुए चलता बना  “काश ! इनके हुनर को वाजिब मंच मिल जाये………………”

यादों से कह दो सूख जायें
किताब में दबे गुलाब की तरह ।

© अनुरोध कुमार श्रीवास्तव

prachi
नाम - अनुरोध कुमार श्रीवास्तव " प्रकृति के सुन्दरम का कवि" पिता - श्री अष्टभुजा प्रसाद श्रीवास्तव माता - स्व.श्रीमती सावित्री श्रीवास्तव पत्नी - श्रीमती कुमुद श्रीवास्तव जन्मतिथि - 05/05/1978 शिक्षा - स्नातक जन्मस्थान - महर्षि वशिष्ठ और हिन्दी साहित्य के महान समालोचक तथा साहित्यकार आचार्य रामचंद्र शुक्ल , और सर्वेश्वर दयाल सक्सेना की पावन भूमि जनपद - बस्ती,उत्तर प्रदेश । लेखनशैली - प्रकृति के सुन्दर दृश्यों को आत्मसात कर अपनें कविता द्वारा पाठक के समक्ष प्रकृति का चित्रण करना मूल काव्य शैली । इसके अतिरिक्त श्रृंगार ,सौन्दर्य ,बाल साहित्य,गौरैया एवं अन्य पक्षी संरक्षण,पर्यावरण संरक्षण नदी एवं जल संरक्षण,स्त्री सशक्तीकरण,हास्यव्यंग्य और सामाजिक सन्दर्भ के विषय । प्रकाशित साहित्य - एक काव्य संग्रह "जिन्दगी के साज पर" दो साझा काव्य संग्रह "काव्य प्रभा" और "अन्त्योदय से आनन्द" तथा एक साझा लघुकथा संग्रह "लम्हे" प्रकाशित । अन्य गतिविधियां - विभिन्न वेब आधारित साहित्यिक मंचों एवं स्वयं के फेसबुक पृष्ठ "Jaan-A-Gazzal " पर सक्रिय रूप से सतत लेखन । मूल विधा छन्दमुक्त कविता । कविता के अतिरिक्त लेख ,हाइकु,गजल,शेर,दोहा,मुक्तक,कहानी एवं लघुकथा लेखन में सक्रिय । सम्मान/पुरस्कार - प्रतिलिपि जैसे प्रतिष्ठित साहित्यिक मंच से "आजाद भारत चैलेंज सम्मान" एवं स्टोरीमिरर प्रतिष्ठित साहित्यिक मंच पर "लिटरेरी कैप्टन" उपाधि , द साहित्य मंच से जुलाई 2020 में "टाप आथर आफ द मंथ" सम्मान प्राप्त । सम्प्रति - ग्राम्य विकास विभाग में कार्यरत । सम्पर्क - anurodh9839668367@gmail.com मोबाइल - 9839668367

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here