Wednesday, October 28, 2020
prachi

Navneet Shukla

मैं नवनीत शुक्ल पेशे से सरकारी अध्यापक हूँ। मैं उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जनपद में कार्यरत हूँ तथा साहित्य के क्षेत्र में विशेष रूचि होने के कारण कविताएं तथा लेख लिखता हूँ। जो विभिन्न अंतरराष्ट्रीय एवं राष्ट्रीय पत्रिकाओं एवं समाचार पत्रों में प्रकाशित होती रहती हैं। मैंने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से परास्नातक की शिक्षा प्राप्त की है।
10 Posts
0 Comments

सांस्कृतिक मूल्य

शीर्षक- सांस्कृतिक मूल्य (कविता) गर्व करें हम मूल्यों पर अपने, नमन करें हम मूल्यों को अपने। मानव धर्म का ज्ञान कराएं, मूल्य हमें इंसान बनाएं। नैतिकता का पाठ पढ़ाएं, मूल्य...

बलात्कार एक जघन्य अपराध, कैसे लगे अंकुश ?

यदि किसी संस्कृति को समझना है तो सबसे जरुरी है कि हम उस संस्कृति की महिलाओं के बारे में जानें, उनके हालात और परिस्थितियों...

औषधीय गुणों से भरपूर मूली

प्रकृति ने हमें विभिन्न प्रकार के फल-फूल, सब्जियाँ एवं कंदमूल प्रदान किये हैं, इन्हीं में से पौष्टिक तत्वों से भरपूर मूली भी एक सब्जी...

पंक्षी

सुबह उड़ते-उड़ते पंक्षी बोले, प्यारे बच्चों क्या हाल-चाल हैं। सुबह से तुम लिखते रहते हो, सचमुच सब बच्चे कमाल हैं।। बच्चों कुछ लिखो हमारे बारे में भी, हम कठिन...

हिन्दी

हिन्दी जब सहज भाव से बहती, हिंदोस्ताँ की संस्कृति संग में चलती। सभ्यता संस्कृति की प्रतीक है, सरल अभिव्यक्ति की संगीत है। एकता का पाठ हमें पढ़ाती है, एक...

मैं नारी हूँ

मैं ही इस धरा-धर्म की आशा हूँ, मैं ही प्रेम-प्यार की परिभाषा हूँ। मैं ही स्नेह और ममता का सागर हूँ, मैं ही जननी जगपालनहार हूँ।। मै मां,बेटी,पत्नी,बहन...

मरुस्थलीकरण और सूखा एक गंभीर समस्या

  उपजाऊ जमीन का खराब होकर बंजर हो जाने की प्रक्रिया मरुस्थलीकरण कहलाती है, जिसमें जलवायु परिवर्तन तथा मानवीय गतिविधियों समेत अन्य कई कारणों से...

गुरुवर

मन है आज मेरा बहुत हर्षित पुलकित, गुरु के चरणों में है पुष्प श्रद्धा के अर्पित। शिक्षक दिवस है पर्व पावन सुनहरा, गुरु-शिष्य का रिश्ता है सबसे...

बाल कविता

*बाल कविता* क्रिकेट चिंटू यह बोला मिंटू से आओ खेलें क्रिकेट, सबका प्यारा यह खेल निराला गिरेगा विकेट। छोटी सी थी गेंद और था खूब बड़ा सा बल्ला, खेल शुरू हुआ जब मैदान...

बालश्रम

समस्या बालश्रम की है बहुत बड़ी, हर मां-बाप के सामने है खड़ी-2 अशिक्षा को दोष देना भी तो क्या, समस्या गरीबी की है बहुत बड़ी।। समस्या बालश्रम................... उन बच्चों...