“पापा मेरे, मेरे आदर्श”

0
18

पापा मेरे, मेरे आदर्श

आप ही मेरे जीवन के, पथ प्रदर्शक।

आपके ही कदमों के निशां  पर चलकर

जीता मैंने जीवन का हर संघर्ष।

अनुभव आपका, अनमोल है मेरे लिए

रहे आप हमेशा खुशियों के रंग लिए।

आपसे ही सीखा समर्पण मैंने

सोचो हमेशा दूसरों का पहले।

जरूरी नहीं होता, जीवन में स्वार्थी होना,

स्वार्थी हो कर कभी धोखा ना देना।

जितना हो सके उतना सादगी से जीना

छोटो को प्यार, बड़ों को सम्मान देना।

क्यों हर काम रो-रोकर करते हो,

करना ही पड़े तो हंसकर करो ना।

क्यों किसी शख्स की निंदा करते हो,

गिरने से पहले उसके, तुम क्यों गिरते हो।

जरूरी नहीं होता, हर बात का जवाब देना,

चुप रहकर भी आप बहुत कुछ कहते हो।

अनुभव आपके जीवन का, मेरे जीवन का आदर्श है,

गर्व है मुझे कि आप मेरे पथ प्रदर्शक है।

“ happy Father’s day “ पापा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here