बेजुबानों ने

0
3

भेजी है बेजुबानों ने भगवान को एक अर्जी

”रहम कर दे भगवान अब नहीं देखा जाता

इन जुबान वालों का तड़पना

दिल हमारा भी भरने लगा है

देख इनकी बेबसी

बहुत हुआ अब इनको सबक सिखाना

माफ कर दे अब इन जुबान वालों को

हम पर हुआ अगर फिर अत्याचार

हम सब सह लेंगे

एक कोने में चुपके से रो लेंगे

पर तुझसे ना कोई शिकायत करेंगे

रहम कर दे भगवान अब इन जुबान वालों पर'”

भेजी है बेजुबानों ने भगवान को एक अर्जी!!

लेखिका, कवयित्री एवं समाजसेविका।
एक पुस्तक 'अधूरे अल्फाज' प्रकाशित हो चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here