दयालु राजकुमार सिद्धार्थ और राजहंस की कहानी

प्राचीन समय में भारत में कपिलवस्तु नाम की एक बड़ी सुन्दर नगरी हुआ करती थी। उस समय राजा शुद्धोदन वहां राज्य करते थे। जो बड़े धार्मिक और न्याय-प्रिय राजा थे।…

पूस की रात | प्रेमचंद की कहानियाँ

मुंशी प्रेमचंद का संक्षिप्त परिचय पढ़ने के लिए क्लिक करें।हल्कू ने आकर स्त्री से कहा- सहना आया है । लाओ, जो रुपये रखे हैं, उसे दे दूँ, किसी तरह गला…

एक आंच की कसर | प्रेमचंद की कहानियाँ

लेखक - मुंशी प्रेमचंद सारे नगर में महाशय यशोदानन्द का बखान हो रहा था। नगर ही में नही, समस्त प्रान्त में उनकी कीर्ति की जाती थी, समाचार पत्रों में टिप्पणियां…

दो बैलों की कथा | प्रेमचंद की कहानियाँ

मुंशी प्रेमचंद का संक्षिप्त परिचय पढ़ने के लिए क्लिक करें।जानवरों में गधा सबसे ज्यादा बुद्धिहीन समझा जाता है। हम जब किसी आदमी को पल्ले दर्जे का बेवकूफ कहना चाहते हैं,…

किस्सा व्यापारी और दैत्य का | अलिफ लैला की कहानियाँ – 3

शहरजाद ने कहा- प्राचीन काल में एक अत्यंत धनी व्यापारी बहुत-सी वस्तुओं का कारोबार किया करता था। यद्यपि प्रत्येक स्थान पर उसकी कोठियाँ, गुमाश्ते और नौकर-चाकर रहते थे तथापि वह…

असली गहने | धर्मेन्द्र राजमंगल

बात उस समय की है जब कल्लू मामा क्वारे (अनमेरिड) थे। एक दिन उनकी शादी वाले आये। उस दिन कल्लू मामा की ख़ुशी का ठिकाना न रहा। उनके पैर उस…

किस्सा गधे, बैल और उनके मालिक का | अलिफ लैला की कहानियाँ – 2

एक बड़ा व्यापारी था जिसके गाँव में बहुत-से घर और कारखाने थे जिनमें तरह-तरह के पशु रहते थे। एक दिन वह अपने परिवार सहित कारखानों को देखने के लिए गाँव…

शहरयार और शाहजमाँ की कहानी | अलिफ लैला की कहानियाँ

फारस देश भी हिंदुस्तान और चीन के समान था और कई नरेश उसके अधीन थे। वहाँ का राजा महाप्रतापी और बड़ा तेजस्वी था और न्यायप्रिय होने के कारण प्रजा को…

नल और दमयंती के प्रेम की अमर कहानी

निषध देश में वीरसेन के पुत्र नल नाम के एक राजा हुआ करते थे। जो बहुत सुन्दर और गुणवान व्यक्तित्व के थे। वे सभी तरह की अस्त्र विद्याओं में भी…

End of content

No more pages to load