Wednesday, October 28, 2020
prachi

Dohe

प्रेम ( मंजूर के दोहे )

प्रेम **** ( दोहा ) ******* १) प्रेम की बंसी सुमधुर,मंत्रमुग्ध करी जाए। सुध-बुध का न पता चले,एकांत समय बिताए।। २) जीवन में प्रेम महान, कुछ न इसके समान। मान सम्मान जहां मिले,वही...

कष्टन से दो चार

कस्टन से हुए दो चार अब पछताय काहे जे करै सामना ते ही पावै निजात सुख में पराए भी आपन होवे दुख सच्चा साथी सबकर ही पहचान...

मंजूर के दोहे

मंजूर के दोहे ********** 1. शूल समान तू तेज हो, भेदो हरेक बाधा पहुंचोगे तुम शीर्ष पर, लक्ष्य कठिन नहिं ज्यादा 2. पथिक तू चलते चला जा, लक्ष्य दूर न...

गुरु की महिमा

********** गुरु की महिमा ********* ************** दोहे ************* प्रथम गुरु जननी हुई , देती है उपदेश जीवन पाठ सीखाती ,दे समाज प्रवेश शिक्षक का पद है बड़ा ,...

गुरु की महिमा ( दोहे )

  गुरु की महिमा *********** ( दोहे ) १. गुरु चरणन की धुलि,सदा रखो सिरमौर आफत बिपत नाहिं कभी,आवैगी तेरी ओर। २. गुरु ज्ञान की होवें गंगा,गोता लगा हो चंगा बिन ज्ञान वस्त्रधारी...

पत्थर

पाषाणों को भेदती,निकली कल-कल धार। नदिया बनकर बह चली,करती है उपकार। पत्थर घन की चोट से,लेता नव आकार। जैसी होती कल्पना,वही रूप साकार । । दोनों भाई लिख...

मुरलीधर

कान्हा मटकी फोड़ते,पाने को नवनीत। माता हँसकर देखती,छलक रही है प्रीत।। गिरिधर जब मन में बसे,सबकुछ होता पास। उनका ही अब आसरा,उनसे ही है आस।। भादों की ये...

माखनचोर

आनन चंदा सा लगे,मुकुट पंख है मोर। दधि मटकी को फोड़ते,नटखट माखनचोर।। गोपी मटकी ले चली,फोड़ी कंकड़ मार। नटखट माखनचोर ने,कभी न मानी हार।। मैया बाँधी पेड़ से,माटी...

मर्यादा पुरुषोत्तम राम

**** मर्यादा पुरुषोत्तम राम (दोहे) ****** ********************************** दशरथ नृपति लाड़ला , सीता पति श्रीराम कौशल्या कोख से जन्मा,विष्णु महा अवतार राजधर्म पालन किया , भार्या का कर त्याग माता...

प्रेम के दोहे

********* प्रेम के दोहे *********** ****************************** मेघ गरजते गगन में , बूँद गिरे रसधार प्यासा मन है बावरा, आ जाओ घर द्वार बादल छाये गगन में,बिजली चमके जोर अंग...